PM मोदी ने आकाश मिसाइल बनाने की दी मंजूरी, जो चीन और पाकिस्तान के लिए काल है

0
267

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने भारतीय वायुसेना और ज्यादा शक्तिशाली बनाने के लिए करीब 5000 करोड़ रुपये की आकाश मिसाइल परियोजना को मंजूरी दे दी है। हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में संपन्न हुई सुरक्षा संबंधी एक अहम कैबिनेट मीटिंग में इस प्रोजेक्ट के लिए हरि झंडी दे दी गई।

रक्षा मंत्रालय राजनाथ की ओर से गुरुवार को ये इन्फॉर्मेशन भारतीय वायुसेना को दी गई। सरकार ने दुश्मनों के लड़ाकू विमानों को मारकर गिराने के लिए छह स्क्वाड्रन स्वदेशी आकाश एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम की खरीद को मंजूरी दे दी है।

सूत्रों की जानकारी के अनुसार आकाश मिसाइल को खरीदने का यह प्रस्ताव तीन साल पहले सरकार के सामने रखा गया था लेकिन अब सरकार ने इसे गंभीरता से लेते हुए सरकार की ओर से अब इसे हरी झंडी दे दी गई है।

सरकार के इस महत्वपूर्ण निर्णय के बाद भारतीय वायुसेना के पास आकाश मिसाइल की संख्या बढ़कर 15 हो जाएगी। इन मिसाइलों को पाकिस्तान और चीन की बॉडर पर तैनात किया जाएगा। इंडियन एयरफोर्स ने प्रारम्भिक में दो स्क्वाड्रन का ही प्रस्ताव रखा था। लेकिन इस मिसाइल की दक्षता को देखते हुए इसकी संख्या में बढ़ोतरी कर दी गई है।

साल 2018 में सूर्या लंका युद्ध अभ्यास के दौरान इज़रायली मिसाइल और अन्य मिसाइलों के साथ भारतीय वायुसेना ने आकाश का भी सर्वेक्षण किया था। इनमें आकाश का प्रदर्शन जोरदार साबित हुआ था। इसी बात को देखते हुए रक्षा मंत्रालय ने अन्य विदेशी मिसाइलों के तुलना में इस मिसाइल को बढ़ावा देते हुए इसे स्वीकृति दे दी है।

मोदी सरकार ने आकाश मिसाइल के समर्थन में सेना का 17000 करोड़ रुपये का टेंडर समाप्त कर दिया है। आकाश मिसाइल सिस्टम आ जाने के बाद अगर भविष्य में पाकिस्तान ऐसी कोई भी हमले करने का प्रयास भी करेगा तो उसे आसमान के साथ-साथ जमीन पर भी मुंहतोड़ पलटवार किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.