पहले पति और अब बेटे का भी छूट गया साथ, जाने अनुराधा पौडवाल के जिंदगी की दर्द भरी दास्ताँ

    0
    6098

    अनुराधा पौडवाल की आवाज़ की

    मधुरता के आज इतने कायल है के इनकी शायद देश में गिनती तक करना मुश्किल है| इन्हें सबसे अधिक प्रसिद्धि इनके भक्ति गानों के दम पर मिली है| उनकी आवाज़ में ऐसी मधुरता है के लोग खुद कहते हैं के इनके गले में माँ सरस्वती का वास है| आज अपने जीवन में इस हद तक कामयाबी पाने के बावजूद भी उनकी असल जिंदगी उतनी अच्छी नही है| उनकी असल जिंदगी बहुत सारे उतार चढ़ावों से भरी है जिसके बारे में आज हम बात करने जा रहे हैं|

    ऐसे चढ़ी कामयाबी की सीढियां

    साल 1954 में 23 अक्टूबर को जन्मी अनुराधा पौडवाल नें पहले फ़िल्मी दुनिया का रुख किया| इनके सिंगिंग करियर की बात करें तो साल 1973 में इन्होने जाया बहादुरी के लिए एक श्लोक गाकर फिल्म “अभिमान” से अपना करियर शुरू किया| फ़िल्मी दुनिया में बतौर एक प्लेबैक सिंगर इन्होने कई साल अपनी आवाज़ से लोगों के दिलों पर राज़ किया| इन्होने इसके बाद एक म्यूजिक कम्पनी “टी सीरीज” में भी काम करना शरू कर दिया| तमाम फ़िल्में “आशिकी”, “तेजाब”, “लाल दुपट्टा मलमल का”और “दिल है कि मानता नहीं” में इन्होने अपनी गायकी को साबित किया|

    इन्हें चुना था हमसफर

    अनुराधा नें साल 1969 में अरुण पौडवाल को अपना हमसफर चुना जो के एसडी बर्मन के असीस्टेंट और एक फेमस म्यूजिक भी थे| इस शादी से इन्हें दो बच्चे हुए जिनके नाम आदित्य और कविता हैं| लेकिन फिर अरुण पौडवाल नें साल 1991 में 1 नवम्बर को एक हादसे की वजह से दुनिया छोड़कर चले गये| इस सब से जूझते हुए इनके दोनों बच्चों की ज़िम्मेदारी भी अनुराधा पर ही आ गयी थी|

    जुड़ा था गुलशन कुमार संग नाम

    “टी सीरीज” म्यूजिक कम्पनी के मालिक स्वर्गीय गुलशन कुमार इन्हें दूसरी लता मंगेशकर के रूप में देखना चाहते थे| इतना ही नही गुलशन नें अनुराधा के कई गाने भी दिए, जिनके दम पर इन्होने अपना ख़ासा नाम बना लिया| इन्ही सब के बीच इनके गुलशन के साथ अफेयर की भी खबरें सुर्ख़ियों में आने लगी थी| हालाँकि कभी भी मीडिया के सामने दोनों नें ही इस रिश्ते को लेकर बातें नही की|

    गुलशन कुमार की मृत्यु से इस कदर टूटी

    लता मंगेशकर को उस समय स्वर कोइला का खिताब मिला हुआ था| लेकिन एक वक्त ऐसा आ गया था जब अनुराधा पौडवाल का नाम इनसे भी उपर आने लगा था| देखते ही देखते ये “टी सीरीज” की काफी जानी मानी गायिका बन गयी थी| लेकिन फिर इन्होने फ़िल्मी गानों से अपना रुख थोडा भक्ति संगीत और भजन की तरफ मोड़ लिया| और फिर गुलशन कुमार के निधन की खबर आ गयी जिसके बाद अनुराधा को काफी बड़ा झटका लगा| और इसका इनपर ऐसा असर हुआ के इन्होने फ़िल्मी गानों को पूरी तरह अलविदा कह दिया|

    बेटे का भी छूता साथ

    पति अरुण के बाद अनुराधा के पास एक बेटे और बेटी का सहारा ही बचा था| लेकिन अब बीते 12 सितम्बर की तारिख को इनके बेटे आदित्य नें भी इंक साथ छोड़ दिया| दरअसल इनके बेटे की किडनी काफी वक्त से खराब चल रही थी जिसके अब अचानक फेल होने से आदित्य भी अब माँ अनुराधा के साथ नही हैं|

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.