रामविलास पासवान की बेटी का छलका दर्द, बोली- चिराग भैया की माँ ने पापा को हमसे दूर कर दिया

0
1670

हाल ही में बिहार चुनाव की घोषणा होने के बाद

कद्दावर नेता राम विलास पासवान ने दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया है. इसके बाद से हर कोई उनके जाने का दुःख व्यक्त कर रहा है. हालाँकि उनके दुनिया त्यागने का असली दुःख केवल वही समझ सकते हैं, जो उनके सबसे करीबी रहे हो. उन्ही में से एक है राम विलास पासवान की बेटी आशा पासवान. अब भी आशा पासवान की आँखें पिता को याद करके रो देती हैं. बता दें कि आशा रामविलास पासवान की पहली पत्नी राजकुमारी देवी की छोटी बेटी है. जब भी आशा से उनके पिता से जुड़ा कोई सवाल किया जाता है तो वह यह कह कर रो देती हैं कि, “छोटी माँ.. आखिर आपने ऐसा क्यों किया? हम पापा से मिलना चाहते थे लेकिन मैडम ने मना कर दिया.” जब मीडिया ने उनसे मैडम के बारे में पुछा तो उन्होंने बताया कि मैडम कोई और नहीं बल्कि उनकी छोटी माँ यानि रीना पासवान हैं.

आशा ने बताया कि उनके पिता रामविलास पासवान

सबको एक धागे में पिरो कर साथ रखना चाहते थे लेकिन मैडम ने जा बूझ कर उन्हें हम सबसे दूर कर दिया. जब मुझे पता चला कि पापा ठीक नहीं हैं तो मैं और मेरे हसबैंड उनसे एक बार मुलाकात करना चाहते थे लेकिन मैडम ने फोन पर कह दिया कि लॉकडाउन में मत आओ.” इससे आगे आशा ने आँख में आंसू भरते हुए कहा कि वह पिता से मिलने के लिए तिक्त भी करवा चुकी थी लेकिन उनकी दूसरी माँ ने उन्हें अंतिम बार भेंट तक नहीं करने दी थी.

पापा को पसंद था मेरे हाथ का खाना

आशा पासवान के अनुसार रामविलास पासवान उनकी बनाई कचरी, घुघनी और मच्छली खाना बेहद पसंद किया करते थे. फ़िलहाल आशा की उम्र 46 साल की है. उन्होंने बताया कि उनकी तबियत भी काफी खराब सी रहती है. छह महीने पहले जब उनकी तबियत खराब थी तो वह इलाज के लिए दिल्ली गई थी. वहां उनसे मिलने उनके पिता रामविलास भी पहुंचे थे. बेटी की हालत देख कर एक पिता अपना दर्द छिपा नहीं पाया और चिंता में रोने लग गए. आशा के अनुसार वह हमेशा से उन्हें एकसाथ जोड़ कर रखना चाहते थे.

बेटी तान्या भी थी नाना के करीब

आशा की बेटी तान्या का भी नाना रामविलास पासवान से बेहद लगाव था. नाना के जाने के बाद वह पूरी तरह से गुमसुम रहती हैं. तान्या ने बताया कि जब वह पांचवीं कक्षा में पढ़ती थी तो एक दिन अचानक से नाना जी ने कहा कि अपना बैग दिखाओ इसमें आखिर क्या क्या रखती हो? ऐसे में जब बैग में उन्होंने तान्या की टूटी हुई लिपस्टिक देखी तो मुस्कुरा दिए और अगले ही दिन एक नई लिपस्टिक ला कर दे दी. तान्या के कहा, “मुहे आज भी सब याद है कि नाना जी से जब भी मैंने कुछ माँगा था उन्होंने मुझे कभी ना नहीं बोला था बल्कि बिना मांगे भी वह सब कुछ ला कर दिया करते थे.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.