Gajab : 4 लाख रुपये में बिका ये नन्हा पौधा, इसकी खासियत जानकर दांतो तले दबा लेंगे उंगली

0
827

This little plant sold for 4 lakh rupees

Ajab Gajab News: अगर आपने अपने घर के गमले में कोई पौधा लगा रखा है और बाद में पता चले कि उसकी कीमत 4 लाख रुपये है तो आपके भी होश उड़ जाएंगे. न्यूजीलैंड में ऐसा ही हुआ है, जहां घर के गमले में लगाया जाने वाला एक पौधा 4 लाख रुपये से ज्यादा की कीमत में बिका. पौधे खरीदने वाला व्यक्ति इस पौधे को पाकर काफी खुश नजर आ रहा है. न्यूजीलैंड के जिस शख्स ने 4 लाख से अधिक की कीमत चुकाकर यह पौधा खरीदा, उसने इसकी ढेर सारी खूबियां बताई. चार पत्तियों वाले इस पौधे का नाम है राफिडोफोरा टेट्रासपेर्मा. यह एक ऐसा दुर्लभ पौधा है जो बहुत ही कम दिखाई देता है. न्यूजीलैंड की एक वेबसाइट ट्रेड मी ने इस पौधे को बेचने के लिए जब बोली लगाई तो इसको खरीदने की होड़ मच गई. This little plant sold for 4 lakh rupees

Read Also: इन चीजों का ना करें इस्तेमाल, नाराज हो सकते हैं पितर

4.02 लाख रुपये चुकाकर खरीदा पौधा

इस पौधे को आखिरकार सर्वाधिक बोली लगाकर खरीदने वाले शख्स ने 8,150 न्यूजीलैंड डॉलर यानि 4.02 लाख रुपये चुकाकर यह पौधा खरीदा. इस दुर्लभ पौधे की खासियत है कि इसमें कभी पीले, कभी गुलाबी, कभी सफेद और कभी बैंगनी रंग के पत्ते आते हैं. पौधे को फिलोडेंड्रोन मिनिमा के नाम से भी जाना जाता है. पौधे को बेचने वाली वेबसाइट ट्रेड मी (Trade Me) पर लिखा था कि पौधे में अभी हर पत्ती पर चटक पीले रंग की पत्तियां हैं, जो 4 हैं. इसकी खूबी के बारे में लिखा था कि हरे रंग की पत्तियां पौधों को प्रकाश संश्लेषण की सुविधा देती हैं. जबकि कम हरी या हल्की पीली पत्तियां पौधे को विकास और मरम्मत के लिए आवश्यक शक्कर का उत्पादन करती है.

Read also: वास्तु दोष मिटाते हैं बप्पा, इस तरह लगाएं मूर्तिउनकी 

बच्चे की तरह पालते हैं यह पौधा This little plant sold for 4 lakh

इसके बाद लिखा था कि पूरी तरह से हरे रंग के तने पर निकली हुई कुछ परिवर्तनशील पत्तियां ये गारंटी नहीं देतीं कि भविष्य में यह कितनी तेजी से तथा किस तरह से विकसित होंगी. आप जानकर दंग रह जाएंगे कि इसे खरीदने वाले लोग इसको अपने बच्चे की तरह संभालकर पालते हैं. इस पौधे की मांग सबसे ज्यादा अमेरिका, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया में है. This little plant sold for 4 lakh rupees

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.